Bollywood Hindi Lyrics

Bollywood Songs Hindi Lyrics

 
 

   Hindi Lyrics  /  Kal Aaj Aur Kal Songs Lyrics  /  Ham Jab Honge Saath Saal Ke

Ham Jab Honge Saath Saal Ke (793 views)

   Please Rate this lyrics

Rating: 0.0/5 (0 votes cast)

क्या?
हम जब होगे साथ साल के, और तुम होगी पचपन की
बोलो प्रीत निभाओगी ना, तब भी अपने बचपन की

क्या? क्या? क्या? क्या?
हम जब होगे साथ साल के, और तुम होगी पचपन की
बोलो प्रीत निभोगी ना, तब भी अपने बचपन की
तुम जब होगे साथ साल के, और मै होगी पचपन की
प्रीत की ज्योत जलाउगी मै, तब भी अपने बचपन की

हा, बाहो का सहारा हो जब, लकड़ी क्यो हम टेकेगे
आंख भले धुंधली हो जाए, दिल की नज़र से देखेगे
आंखो मे तुम यूही देखना, क्या है ज़रुरत दर्पण की
बोलो प्रीत निभाओगी ना, तब भी अपने बचपन की
तुम जब होगे

रूप की ये मस्तानी धुन, एक दिन तो ढल जायेगी
और किस्मत भी चहरे पे, समय का रंग मॉल जायेगी
तुम तब कही बदल न जाना, क़सम तुम्हे इस धड़कन की
बोलो प्रीत निभाओगे न, तब भी अपने बचपन की

ठंडी मे तुम स्वेअटर बुनना,
हम लकड़ी चुन लायेगे
बच्चो के संग बच्चे बन कर, हम दोनो तुतलायेगे
मिलजुल कर हम साथ रहेगे, बात ना होगी अनबन की
बोलो प्रीत निभाओगी ना, तब भी अपने बचपन की
तुम जब होगे
हम जब होगे

This lyrics Print Send / Dedicate to someone